हल्द्वानी  । भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम में जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से जोनल/सेक्टर एवं एफएसटी, एसएसटी टीमों की आवाजाही की निगरानी सुनिश्चित की जाएगी।

 

नोडल अधिकारी मीडिया/नगर आयुक्त हल्द्वानी विशाल मिश्रा ने कहा कि निर्वाचन कार्य में लगे जनपद के सभी जोनल, सेक्टर मजिस्ट्रेटों के साथ ही एफएसटी व एसएसटी के सभी वाहनों में 3 दिनों के भीतर जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगाना अनिवार्य है।

उन्होंने बताया कि एमबी इन्टर कालेज के कक्ष संख्या 26 में जीपीएस सिस्टम वाहनों में लगाया जा रहा है। उन्होने कहा विगत 5 अपै्रल तक जनपद के जोनल मजिस्ट्रेटों के 39 वाहनों में से 20 में तथा सेक्टर मजिस्ट्रेटो के 118 वाहनो में से 67 वाहनों में जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगाया गया है। इसके साथ ही 18 में से 16 एसएसटी वाहनों में एवं 57 में से 49 एफएसटी टीमों के वाहनों मे जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से निर्वाचन में लगे सभी वाहनों पर लगातार नजर रखी जाएगी और इसकी रिकॉर्डिंग भी होगी, जिससे यह पता चल सकेगा कि वाहन किस रास्ते से कहां तक गए हैं। उन्होने बताया कि जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम के माध्यम से ईवीएम और वीवीपैट की आवाजाही की निगरानी भी सुनिश्चित की जाएगी।

ALSO READ:  अल्टीमेटम-: उत्तराखंड विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ ने अपनी मांगों के निराकरण के लिये शासन को 31 जुलाई तक का समय दिया ।

श्री मिश्रा ने बताया कि जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगाने में किसी भी प्रकार की समस्या के सम्बन्ध में एआरटीओ विविन कुमार मोबाइल न0- 98379-41680 एवं नोडल अधिकारी जीपीएस नंदन आर्य मो0न0- 90121-19119 से सम्पर्क कर सकते हैं।

By admin

"खबरें पल-पल की" देश-विदेश की खबरों को और विशेषकर नैनीताल की खबरों को आप सबके सामने लाने का एक डिजिटल माध्यम है| इसकी मदद से हम आपको नैनीताल शहर में,उत्तराखंड में, भारत देश में होने वाली गतिविधियों को आप तक सबसे पहले लाने का प्रयास करते हैं|हमारे माध्यम से लगातार आपको आपके शहर की खबरों को डिजिटल माध्यम से आप तक पहुंचाया जाता है|

You cannot copy content of this page