नैनीताल । कुमाऊं विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में मंगलवार को केंद्रीय विश्व विद्यालय सिलचर असम के कुलपति प्रो. राजीव मोहन पंत ने व्याख्यान दिया ।

 

अपने सम्बोधन में कुलपति प्रो. पंत ने कहा की विद्यार्थी समय के प्रबंधन को सीखें। समय को न गवाएं तो कमजोर विद्यार्थी जीवन में लगन से बेहतर भविष्य कर सकते हैं। ज्ञान सबसे बड़ी पूजी है । नैनीताल निवासी प्रो. पंत कुमाऊं विश्वविद्यालय के पुरातन छात्र रहे हैं   उन्होंने 1982 में अर्थशास्त्र से एम ए किया । प्रो. पन्त ने कहा की डीएसबी परिसर हमेशा से गरिमा मय रहा है तथा यहां के विद्यार्थी देश के लिए कार्य करते रहे हैं।प्रो. पंत ने विद्यार्थी को बेहतर देश सेवा के साथ कर्मठ बनने की सीख दी।

ALSO READ:  नैनीताल राजभवन में लगी महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों की प्रदर्शनी । राज्यपाल ने किया प्रदर्शनी का अवलोकन ।

 

इस अवसर पर प्रो. राजीव मोहन पंत को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए निदेशक विजिटिंग प्रोफेसर निदेशालय डॉ. ललित तिवारी ने प्रो. पंत का जीवन वृत्त प्रस्तुत किया । भूगोल विभागाध्यक्ष प्रो. आर सी जोशी ने सभी का स्वागत किया तथा संकायाध्यक्ष प्रो. इंदु पाठक ने सभी का धन्यवाद किया ।इस अवसर पर डॉ. मनीषा त्रिपाठी ,डॉ. मोहन लाल डॉ. नंदन बिष्ट, डॉ. मासूम रज़ा,डॉ. कृतिका बोरा सहित भूगोल, अर्थशास्त्र, वनस्पति विज्ञान के विद्यार्थी एवम शोधार्थी सहित कई विद्यार्थी उपस्थित रहे ।

By admin

"खबरें पल-पल की" देश-विदेश की खबरों को और विशेषकर नैनीताल की खबरों को आप सबके सामने लाने का एक डिजिटल माध्यम है| इसकी मदद से हम आपको नैनीताल शहर में,उत्तराखंड में, भारत देश में होने वाली गतिविधियों को आप तक सबसे पहले लाने का प्रयास करते हैं|हमारे माध्यम से लगातार आपको आपके शहर की खबरों को डिजिटल माध्यम से आप तक पहुंचाया जाता है|

You missed

You cannot copy content of this page