नैनीताल । सीआरएसटी इंटर कॉलेज नैनीताल के पूर्व प्रधानाचार्य,खिलाड़ी,जाने माने छायाकार व संस्कृति प्रेमी अमर नाथ सिंह बिष्ट के असामयिक निधन पर सीआरएसटी इंटर कॉलेज में शोक सभा हुई ।

 

शोक सभा में पूर्व जीव विज्ञान प्रवक्ता कमलेश चन्द्र पाण्डे द्वारा उनके वक़्तित्व व कृतित्व को याद करते हुए कहा कि वे अनुशासित जीवन जीते थे । हर कार्य व्यवस्थित ढंग से करते । वे छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु गुणात्मक शिक्षा पर ज़ोर देते थे । पूर्व विधायक डॉ. नारायण सिंह जन्तवाल ने कहा कि श्री सिंह बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे । उनके द्वारा कई प्रतिभावों के हुनर की पहचान कर मार्गदर्शन किया।  वे फोटोग्राफी में राष्ट्रीय पहचान रखते थे । उन्होंने शरीर सौष्ठव जैसे नए खेल को युवाओं में लोकप्रिय बनाया । प्रो. शेखर पाठक ने कहा कि अमरनाथ सिंह जैसे शिक्षकों की वजह से ही सीआरएसटी इंटर कॉलेज का गौरवशाली इतिहास रहा है ।विनोद पांडे ने विचार वयक्त करते हुए कहा कि उनका प्रकृति के प्रेम इतना अधिक था कि वे लंबी पद यात्रा करने में तनिक भी नहीं हिचकिचाते थे ।पद्मश्री अनूप साह ने कहा कि उन्हे नैनीताल से बहुत प्रेम था ,वे उत्साह के साथ हमेशा नंदादेवी मेला, होली ,दुर्गा पूजा,शरदोत्सव आदि में अपनी उपस्थिति दर्ज करते थे।सभी वक़्ताओं ने उनके निधन को नैनीताल व विद्यालय के लिये बड़ी क्षति बताया

ALSO READ:  अल्टीमेटम-: उत्तराखंड विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ ने अपनी मांगों के निराकरण के लिये शासन को 31 जुलाई तक का समय दिया ।

 

शोक सभा का संचालन मनोज पांडे ने किया ।शोक सभा में अनुपम उपाध्याय , डॉ गौरव भाकुनी ,जी डी लोहनी ,डॉ एसएस बिष्ट ,मनीष साह ,तारा जोशी ,शैलेन्द्र चौधरी ,रितेश साह ,राजेश लाल ,राजेश कुमार ,हिमांशु जोशी ,ललित सिंह जीना ,लता जोशी आदि उपस्थित थे।

By admin

"खबरें पल-पल की" देश-विदेश की खबरों को और विशेषकर नैनीताल की खबरों को आप सबके सामने लाने का एक डिजिटल माध्यम है| इसकी मदद से हम आपको नैनीताल शहर में,उत्तराखंड में, भारत देश में होने वाली गतिविधियों को आप तक सबसे पहले लाने का प्रयास करते हैं|हमारे माध्यम से लगातार आपको आपके शहर की खबरों को डिजिटल माध्यम से आप तक पहुंचाया जाता है|

You cannot copy content of this page