सैकड़ों लोगों ने नम आंखों से दी मेजर हरीश को अंतिम विदाई ।

 

अल्मोड़ा जिले के धौलादेवी ब्लॉक के गुणादित्य निवासी मेजर हरीश चन्द्रा  की ड्यूटी के दौरान आकस्मिक निधन हो गया । 40 वर्षीय मेजर हरीश चन्द्रा ई एम ई रिकॉर्ड्स सिकंदराबाद तेलंगाना में तैनात थे । वे अपने पीछे पत्नी, 10 वर्षीय पुत्र,बूढ़े मां बाप सहित भाई बहनों का भरा पूरा परिवार रोता बिलखता छोड़ गए हैं । उनके निधन से पूरे गांव व इलाके में गमगीन माहौल है । उनका पार्थिव शरीर तिरेंगे में लिपटकर सोमवार की पूर्वान्ह में उनके गांव स्वाड़ी (गुणादित्य) पहुंचा तो उनके परिवार में कोहराम मच गया । इस दौरान सेना की टुकड़ी ने सलामी देकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की । दोपहर बाद उनके पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिये जागेश्वर धाम ले जाया गया । उनकी शवयात्रा में पाली,गुणादित्य,तडकोट सहित आसपास के गांवों के सैकड़ों लोग व जनप्रतिनिधि शामिल थे ।  जिन्होंने नम आंखों से इस जाबांज सैन्य अधिकारी को नम आंखों से विदाई दी ।

ALSO READ:  अवकाश की सूचना --: कुमाऊं विश्व विद्यालय के परिसरों में रहेगा 20 दिन का ग्रीष्म अवकाश ।

बताया गया है कि 8 जून को सिकंदराबाद में मेजर हरीश चन्द्रा को ड्यूटी के दौरान स्विमिंग पूल में डूब गए थे । उनकी पत्नी व पुत्र भी उनके साथ ही सिकंदराबाद में थे । 9 जून को उनका पार्थिव शरीर हवाई जहाज से दिल्ली लाया गया । जहां से सेना के वाहन से सोमवार की सुबह उनका पार्थिव शरीर गांव पहुंचा ।

मेजर हरीश चन्द्रा का अंतिम संस्कार जागेश्वर धाम के श्मशानघाट में पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया। 19 कुमाऊं, 22 राजपूत और ईएमआई रेजिमेंट के जवानों ने पुष्प चक्र अर्पित कर उन्हें सलामी दी। इस दौरान ए आर ओ, अल्मोड़ा कर्नल आदित्य मिश्रा, मेजर पंकज कुमार वर्मा ई एम ई रिकॉर्ड्स सिकंदराबाद, कैप्टन अमनदीप 22 राजपूत बटालियन,कैप्टन बालाजी 614 ई एम ई बटालियन, विधायक जागेश्वर मोहन सिंह मेहरा, एसडीएम एनएस नगन्याल, मोहन सिंह सिंगवान वरिष्ठ, भाजपा नेता सुभाष पांडे, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि नरेंद्र बिष्ट, जीवन पालीवाल, अमर सिंह, इंद्र पालीवाल खीमानंद पालीवाल भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष विपिन भट्ट सहित तमाम लोगों ने उन्हें पुष्प चक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

ALSO READ:  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कल 17 जून को नैनीताल आएंगे ।

हरीश चन्द्रा  ने अपनी सेवा की शुरुआत कुमाऊं रेजीमेंट सेंटर से की थी । बाद में उन्होंने कमीशन प्राप्त किया था । बेहद मध्यम परिवार से पढ़ लिखकर हरीश मेजर के पद तक पहुंचे थे । इस पद तक पहुंचने वाले वे पूरे इलाके में पहले युवा थे और पूरे इलाके की शान थे । बेहद मिलनसार हरीश  के आकस्मिक निधन से पूरे इलाके में गमगीन माहौल है । उनके परिजनों को ढांढस बंधाने बड़ी संख्या में लोग उनके आवास पर जमा हैं ।

By admin

"खबरें पल-पल की" देश-विदेश की खबरों को और विशेषकर नैनीताल की खबरों को आप सबके सामने लाने का एक डिजिटल माध्यम है| इसकी मदद से हम आपको नैनीताल शहर में,उत्तराखंड में, भारत देश में होने वाली गतिविधियों को आप तक सबसे पहले लाने का प्रयास करते हैं|हमारे माध्यम से लगातार आपको आपके शहर की खबरों को डिजिटल माध्यम से आप तक पहुंचाया जाता है|

You cannot copy content of this page